Computer Gk in Hindi -ultimate guide

computer gk in hindi के बारे में  वैसे तो Internet पर आप को ऐसे ढेरो Website मिल जायेंगे जो की आप को Computer Gk के बारे में बताएंगे। जिसको आप रेगुलर बेसिस पर विजिट करते है एंड Daily बेसिस पर रीड करते है पर आज हम जिस Computer Gk In Hindi को  आप के सामने ला रहे है वो बहुत ही Common Question है जो की आप की आगामी  एग्जाम जैसे की SSC ,BANK ,RAL में हेल्प करेगी।

Introduction of Computer

computer एक स्वचालित इलेक्ट्रॉनिक मशीन है जो तीव्र गति से कार्य  करता  है और कोई गलती नहीं करता है। इसकी क्षमता सिमित है। यह इंग्लिश के शब्द computer से बना है जिसका अर्थ गणना करना होता है। हिंदी में कंप्यूटर को संगणक कहते है। इसका उपयोग बहुत सरे सूचना को प्रोसेस करने तथा इकठ्ठा करने के लिए किया जाता है।

कंप्यूटर की विशेषताएँ 

1 यह तीब्र गति से कार्य करता है अथार्त समय की बचत होती है।
2 यह त्रुटि रहित कार्य करता है।
3 यह स्थायी तथा विशाल भंडारण की सुविधा देता है।
4 यह पूर्व निर्धारित निर्देशों के अनुसार तीव्र निर्णय लेने में सक्षम है।

कंप्यूटर का उपयोग 

1 शिक्षा के क्षेत्र में 6 प्रशासन में
2  वैज्ञानिक अनुसंधान में 7 चिकित्सा विज्ञानं में
3 रेलवे तथा वायुयान आरक्षण में 8 प्रकाशन में
4 बैंक में रक्षा  क्षेत्र में 9 संचार में
5 बिज़नेस में 10 मनोरंजन में

इनपुट डिवाइस

एक कम्प्यूटर में इनपुट तथा आउटपुट दोनों उपकरण होते हैं। जिन यंत्रों के द्वारा डेटा नपट किया जाता है अर्थात् जिन यंत्रों से आँकड़े, शब्द या निर्देश मेमोरी में डाले जाते हैं, इनपुट डिवाइसेस कहलाते हैं। दूसरे शब्दों में ये ऐसे यंत्र हैं जिनके द्वारा हम कम्प्यूटर को निर्देश देते हैं और कम्प्यूटर उन पर प्रोग्राम के अनुरूप कार्य करता है। जैसे कि की-बोर्ड, माउस आदि । कुछ प्रमुख इनपुट डिवाइसेस निम्नलिखित हैं

1 की-बोर्ड 8 वेब कैम
2 माऊस 9 बार कोड रीडर
3 ट्रैकबॉल 10 ओ सी आर
4 जॉयस्टिक 11 एम आई सी आर
5 स्कैनर 12 ओ एम आर
6 माइक्रोफोन 13 किमबॉल टैग रीडर
7 स्पीच रेकग्निशन सिस्टम 14 लाइट पैन

#की-बोर्ड(Key Board):

– की-बोर्ड  किसी भी कंप्यूटर की प्रमुख इनपुट डिवाइस है। जिनके प्रयोग से कंप्यूटर में टेक्स्ट तथा न्यूमेरिकल डेटा निवेश कर सकते है। इसमें कुछ फंक्शन बटन होते है जिनको बार बार किये जाने वाले कार्यों के लिए पूर्व निर्धारित किया जाता सकता है। की-बोर्ड में पाँच प्रकार के की (key ) होते है।

1 अल्फाबेट की
2 न्यूमेरिकल की (key )
3 फंक्शन की (Function  Key )
4 कर्सर कंट्रोल की (Cursor Control Keys )
5 स्पेशल   परपस की (Special purpose key )

#माउस (Mouse ) :-

 माउस एक इनपुट डिवाइस है। डगलस सी इंजेल्वरर्ट ने 1977 में इसका आविष्कार किया था। इसमें लेफ्ट बटन, राइट बटन और बीच में एक स्क्रौल व्हील होता है। माउस के उपयोग करने से हमें की-बोर्ड के किसी बटन को याद रखने की आवश्यकता नहीं होती है, बस माउस के प्वाइंटर (Pointer) को स्क्रीन पर किसी नियत स्थान पर क्लिक करना होता है। इसे प्वाइंनटिंग डिवाइस भी कहते हैं। माउस दो बटन, तीन बटन तथा ऑप्टिकल भी होते हैं। माउस के नीचे एक रबर बॉल होता है, जो माउस को सतह पर हिलाने में मदद करता है। बॉल के घुमाने से स्क्रीन पर माउस प्वाइंटर के दिशा में परिवर्तन होता है। माउस के नीचे रखे स्लेट के आकार की वस्तु को माउस पैड कहते हैं।

 ट्रैकबॉल (Trackball):

 यह माउस का ही एक विकल्प है। इसके ऊपर एक बॉल होता है जिसे हाथ से घुमाकर प्लाइंटर की दिशा में परिवर्तन किया जाता है। मुख्यतः इसका उपयोग चिकित्सा के क्षेत्र में, कैड (CAD) तथा कैम (CAM) में किया

#जॉयस्टिक (Joystick):

यह एक इनपुट डिवाइस है जिसका उपयोग विडियो तथा कम्प्यूटर गेम खेलने में होता है। इसकी भी कार्य प्रणाली ट्रैक बॉल की तरह होती है, केवल बॉल की जगह इसमें एक छड़ी (Stick) लगी होती है।

स्कैनर (Scanner):

 इसका उपयोग टेक्स्ट (Text) या चित्र (Image) को डिजिटल रूप में परिवर्तित करने में होता है जिसे हमलोग स्क्रीन पर देख सकते हैं। इन स्कैन चित्रों का उपयोग भिन्न-भिन्न क्षेत्रों में किया जा सकता है।

 माइक्रोफोन (Microphone) :

इस इनपुट डिवाइस का प्रयोग किसी भी आवाज को रिकार्ड करने में होता है।

 बार कोड रीडर (Bar Code Reader) 

: यह Point of sales डेटा रिकॉर्डिंग है। आजकल सुपर मार्केट में मूल्यों। तथा डेटा अपडेट करने के लिए इसका उपयोग किया जाता ९। सुपर मार्केट में सामान के ऊपर जो सफेद और काली लाइन बनी होती है, वह बार कोड है।

मेमोरी (Memory ) 

मेमोरी कंप्यूटर का बुनियादी घटक है। यह कंप्यूटर  आंतरिक भण्डारण  . केंद्रीय प्रोसेसिंग इकाई CPU को प्रोसेस करने के लिए इनपुट डाटा एवं Instruction चाहिए ,जो कि मेमोरी में संगृहीत रहता है। मेमोरी में ही संगृहीत डेटा तथा निर्देश का प्रोसेस होता है , तथा आउटपुट प्राप्त होता है। अतः मेमोरी कंप्यूटर का एक आवश्यक अंग है। 

 

पर्सनल कम्प्यूटर (Personal Computer) 

पीसी (PC-Personal Computer) व्यक्तिगत उपयोग के लिए छोटा, अपेक्षाकृत कम खर्चीला डिजाइन किया गया कम्प्यूटर है। यह माइक्रोप्रोसेसर प्रौद्योगिकी पर आधारित है। कम्प्यूटर का उपयोग मनोरंजन के लिए, ई-मेल देखने तथा छोटे-छोटे दस्तावेज तैयार करने के लिए होता है।

पर्सनल कम्प्यूटर का विकास (Development of Personal Computer)

  • पीसी (पर्सनल कम्प्यूटर) सबसे पहले 1970 के दशक में दिखाई दिया।
  • 1970 में माइक्रो प्रोसेसर के विकास ने PC का विकास किया। 
  • सर्वप्रथम सबसे लोकप्रिय पीसी एप्पल के द्वारा  1977 लाया गया था.जिसका नाम एप्पल II 1977 था। 
  • IBM (International Bussiness Machine) ने अपना पहला पीसी IBM पीसी के नाम से लाया ।

 पर्सनल कम्प्यूटर (पीसी) के भाग या घटक (Parts of Personal Computer)

एक पीसी आमतौर पर निम्नलिखित भागों से मिलकर बनता है 

सिस्टम यूनिट (System Unit)

पीसी द्वारा किये जाने वाले सारे कार्य यहीं से नियंत्रित होते हैं। इसके पीछे के भाग से की वोर्ड, मॉनिटर, माउस तथा प्रिन्टर आदि तारों के सहारे जुड़े रहते हैं। हार्ड डिस्क, सीडी ड्राइव तथा फ्लॉपी ड्राइव इत्यादि इसके अन्दर जुड़े रहते हैं जिन्हें इसे सॉफ्टवेयर के द्वारा नियंत्रित किया जाता है । यह पीसी का मुख्य भाग है। संरचना के आधार पर सिस्टम यूनिट दो प्रकार का होता है| 

(a) डेस्कटॉप टाइप (Desktop Type) : सिस्टम यूनिट एक वर्गाकार बॉक्स के तरह होता है तथा मॉनिटर इसके ऊपर रखा जाता है। 

(b) टावर टाइप (Tower Type)इसमें सिस्टम यूनिट एक टावरनुमा बॉक्स में होता है जो मॉनिटर के बगल में रखा जाता है। इसमें अतिरिक्त भडारण उपकरणों को स्थापित करना आसान होता है।